Girl Vashikaran Mantra - An Overview +91-9914666697




वृश्चिक राशि के लिये बुध मजबूत होने पर वरदान साबित होता है और कमजोर होने पर अघोरी बना देता है।इसका कारण भी यह माना जाता है कि बुध वृश्चिक राशि के लिये अष्टम का प्रभाव देता है जो अघोरी होने पर शमशानी कारणो को सामने लेकर आता है और जो भी बात इस राशि वाले जातक के द्वारा की जाती है वह केवल बिच्छू जैसे डंक मारने की नियत से की जाती है इन्ही कारणो से वृश्चिक राशि का जातक या तो बोली पहिचान मे खरा कहा जाता है या बोली के कारण ही उसे पहिचाना जाता है यही कारण उसके लिये आजीवन लाभ के लिये भी माने जाते है।

दिग्दिध सर्वत्रैव कूं बीजं सर्वदावतु॥

माता यशोदा ने कहा- कान्हा तू तो मेरा प्राण है मै भला तेरे बिना कैसे रह सकती हूं। मेरे नन्हे लाल मै तेरी बलैया लेती हूं। तनिक रूको। मुझे माखन तो निकाल लेने दो, फिर तुम्हे जितना माखन चाहिए ले लेना।

कुम्भ राशि वाले जातक अपनी बुद्धि को तभी विकसित कर पाते है जब वह बोलने चालने की कला मे अपने प्रभाव को प्रदर्शित करने वाले होते है अक्सर बुध का प्रभाव उनकी प्राथमिक शिक्षा पर पडना अधिक देखा जाता है अगर उनकी स्थिति घर मे छोटे भाई बहिन के रूप मे है तो वह अपने जीवन को अपनी बडी बहिन के पास बिताने के लिये या अपनी प्राथमिक शिक्षा को बहिन बुआ के अनुसार ही प्राप्त करने के लिये माना जाता है। अकर कर्जा दुश्मनी बीमारी के समय मे कुम्भ राशि वाले जातक अपने लिये कोई न कोई बुध का कारण ही बना लेते है। उनकी पहिचान भी एक प्रकार से उनकी बहिन बुआ बेटी के द्वारा ही मानी जाती है। अगर बुध मजबूत है तो उनकी संतान जो स्त्री सन्तान के रूप मे होती है वह घर की मर्यादा और जीवन के अन्दर तरक्की के क्षेत्र विकसित करने मे कामयाब हो जाती है और बुध कमजोर है तो वह गलत रास्ते मे जाकर सामाजिक मर्यादा और गुप्त सम्बन्धो के कारण अपनी पहिचान को बिगाडने के लिये भी उत्तरदायी बन जाता है। इसी प्रकार से अगर इस राशि वाले सेवा या नौकरी के क्षेत्र मे है तो उनके सम्बन्ध किसी न किसी प्रकार से उन लोगो से बन जाते है जो उनके लिये बीमारी या कर्जा या किसी प्रकार की दुश्मनी मे उनकी सहायता करते है या गाढे वक्त पर उनकी आर्थिक या सेवा वाली सहायता मे होते है।

जब तक वो हांड़ी ज़मीन में रहेगी तब तक आपके शत्रु को भयानक पीड़ा पहुचेगी और वो तड़पेगा जब आपको उसे तड़पने से मुक्ति दिलानी हो तब उस हांड़ी को ज़मीन से निकल कर हांड़ी खोल दे .ये साधना का गलत इस्तेमाल न करे .

नवरात्र के तीसरे दिन माता चंद्रघंटा की पूजा-वंदना इस मंत्र के द्वारा की जाती है-

Dushman ko tabah karne ka mantra upay/दुश्मन को तबाह करने का मंत्र /उपाय 

बुद्धिमानऔर धनवान बनें इस कृष्ण स्तोत्र से

बोलो जय श्री रामश्रीरामचन्द्र कृपालु भजु मन हरण भवभय दारुणम् .

सब नर करहिं परस्पर प्रीती। चलहिं स्वधर्म निरत श्रुति नीती॥

Ab aap 2 hour tak mantra jaap karke bina kisi se baat kiye pipal ke ped for every jaye,ek loong pipal ke ped ki tehni for each kaale dhaaghe ki madad se baandh de.

शंकरप्रिया त्वंहि भुक्ति-मुक्ति दायिनी।

वृष राशि मे बुध कुटुम्ब के व्यक्ति के साथ आजीवन साथ देने के लिये बहिन बुआ बेटी के लिये अपनी मुद्रा को प्रसारित करता है साथ ही फ़ैसन पहिनावा आदि से धन प्रदान करवाता है चेहरे की सुन्दरता से मजबूत होने पर कोमलता देता है और कमजोर होने पर चेहरे पर झुर्रियां आदि देने के लिये माना जाता है। बुध वृष राशि मे बुद्धि का कारक भी है और यह अपने असर के कारण मजबूत होने पर कर्जा दुश्मनी बीमारी नौकरी शिक्षा आदि मे धन आदि के लिये अपनी तस्वीर अच्छी प्रसारित करता है वहीं कमजोर होने पर यह मन को एक प्रकार से विदीर्ण करने के बाद परिवार समाज घर सन्तान आदि के क्षेत्र मे कोई न कोई कमी खोजने की आदत देता है और अच्छे के साथ भी बुरा बर्ताव करने तथा बुरे के साथ भी अच्छा बर्ताव करने के लिये माना जाता है अक्सर इस राशि वाले लोगो के लिये बुध कमजोर होने पर घर की स्त्री संतान को बरबाद करने के लिये ही माना जाता है।

Vashikaran suggests posses 1’s head thoughts and just necessitate him/her to comply with your instruction or get as per your would like. This had been get more info accustomed to win above the enemy in ancient time by emperors. But now the situation has improved and individuals have began to use this tantric vidya for different types of explanation, where somebody would like to mesmerize or get below control his/her wanted person for benign applications.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *